Skip to content

जानें राजस्थान के मुख्यमंत्री की सैलरी कितनी है

Rajasthan CM Salary Per Month: अगर आप राजस्थान की राजनीति में रूचि रखते है तो आप यह जरूर जानना चाहेंगे कि राजस्थान के मुख्यमंत्री का वर्तमान में वेतन कितना है यानि राजस्थान के मुख्यमंत्री की सैलरी कितनी है. इस आर्टिकल में हमने राजस्थान राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मिलने वाली हर महीने की सैलरी के बारे में बताया है।

देश के हर राज्य की भांति राजस्थान में हर पाँच के अंतराल में मुख्यमंत्री का चुनाव होता है। मुख्यमंत्री के पद पर चयन राज्य की 200 विधानसभा सीटों से जीतकर आए विधायकों में से बहुमत के आधार पर होता है यानि जिस पार्टी/गठबंधन के पास बहुमत हासिल करने योग्य सीटें है, वो अपना मुख्यमंत्री बना देते है।

अधिकांश लोग राजनीति के बारे में बात तो करते है लेकिन अन्य किसी प्रोफेशन की भांति राजनेताओं को मिलने वाली सैलरी के बारे में चर्चा कम ही की जाती है। यदि आप Rajasthan Chief Minister Salary के बारे में जानने को उत्सुक है तो आपकी इस शंका को हमने यहाँ दूर किया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री के वेतन साथ-साथ उन्हें मिलने वाले अन्य भत्तों के बारे में भी जानकारी दी है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री की सैलरी कितनी है

राजस्थान के मुख्यमंत्री की सैलरी कितनी है

वर्तमान में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत है। अशोक गहलोत राजस्थान की 15वीं विधानसभा के सदस्य है और यह राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से संबंध रखते है। इनका कार्यकाल 2018 में विधानसभा चुनावों के बाद शुरू हुआ था जो अभी तक चल रहा है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री को बतौर मुख्यमंत्री हर महीने 75,000 रुपये सैलरी मिलती है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री जो विधायक भी होता है, को विधायक के रूप में भी हर महीने 35000 सैलरी मिलती है। इसके अलावा मुख्यमंत्री को हर महीने विभिन्न प्रकार के भत्ते और अन्य वित्तीय सहयोग प्राप्त होते है।

इस प्रकार राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की हर महीने की सैलरी लगभग एक लाख पचहतर हजार रुपये है। बता दें कि यह आँकड़े मंत्रियों के वेतन (दूसरा संशोधन) विधेयक 2019 के अनुसार है।

बता दें कि मुख्यमंत्री को वर्तमान में विधायक होने के अलावा पूर्व में किसी विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहने या लोकसभा क्षेत्र से सांसद रहने की वजह से पेंशन भी दी जाती है। इस प्रकार यदि कोई मुख्यमंत्री पूर्व में विधानसभा सदस्य या लोकसभा सदस्य रह चुका है तो उसे वर्तमान में मुख्यमंत्री की सैलरी के साथ-साथ विधानसभा या लोकसभा सदस्य रहने की पेंशन भी मिलती है।

यदि कोई मुख्यमंत्री पूर्व में एक बार से अधिक विधानसभा या लोकसभा का सदस्य रहा है तो उसे हर term की पेंशन मिलती है। साथ ही मुख्यमंत्री के 70 साल से ज्यादा उम्र है और वो पूर्व में विधानसभा/लोककसभा सदस्य रहा है तो सामान्य से 20 फीसदी अधिक पेंशन मिलती है।

यह भी पढ़ें- राजस्थान मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृति योजना 2023

मुख्यमंत्री राज्य का वास्तविक मुखिया होता है। हर राज्य में मुख्यमंत्री की नियुक्ति राज्यपाल करता है। मुख्यमंत्री राज्य के दोनों में से किसी भी सदन का सदस्य हो सकता है; हालांकि राजस्थान में सिर्फ एक ही सदन ‘विधानसभा’ है। मुख्यमंत्री का कार्यकाल सामान्यत: पाँच साल या जब तक विधानसभा में विश्वास मत (बहुमत) हासिल किया हुआ हो, तक होता है।

हमने राजस्थान राज्य के मुख्यमंत्री की सैलरी के बारे में बताया है। देश के हर राज्य में मुख्यमंत्री की अलग-अलग है और इस सैलरी/वेतन का निधारण उस राज्य की विधानमंडल के द्वारा किया जाता है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री का वेतन कितना है?

राजस्थान के मुख्यमंत्री का हर महीने का वेतन 1 लाख 75 हजार रूपये है जिसमें उनकी सैलरी और अन्य भत्ते भी सम्मिलित है।

मुख्यमंत्री के वेतन और भत्ते कौन निर्धारित करता है?

राजस्थान के मुख्यमंत्री के वेतन और भत्ते राज्य विधानमण्डल (विधानसभा) द्वारा निर्धारित किये जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हर अपडेट सबसे पहले पाने के लिए टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ें